इस मंत्रों से प्रसन्न हो जाते हैं भगवान गणेश, करते हैं हर बाधा को दूर

हिंदू धर्म में कोई भी पूजा पाठ या शुभ काम बिना गणेश भगवान की पूजा कर या आरती उतारे शुरू नहीं की जाती. गणपति जी को प्रथम पूज्य देवता की उपाधि प्राप्त है. इसलिए हर शुभ कार्य में सबसे पहले उन्हें याद किया जाता है. हिन्दू धर्म में सप्ताह का हर दिन खास है और उसका अलग महत्व है. बुधवार का जहां बुध ग्रह से संबंध माना जाता है. वहीं शास्त्रों में बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित है. माना जाता है कि इस दिन भगवान गणेश की पूजा कर उनकी कृपा पाई जा सकती है. मान्यता के अनुसार, बुधवार के दिन विघ्नहर्ता भगवान गणेश की पूजा करने से विशेष लाभ होता है. इस दिन

गं हं क्लौं ग्लौं उच्छिष्टगणेशाय महायक्षायायं बलिः

मंत्र के जप करने से सारे कष्ट दूर हो जाते हैं और आर्थिक स्थिति भी बहुत अच्छी हो जाती है. गणेश जी का श्रृंगार सिंदूर से ही किया जाता है, इससे लोगों की समस्त परेशानियां दूर होती हैं. आइए आपको कुछ उपायों के बारे में बताते हैं जिन्हें अपनाने से सारी परेशानियां दूर हो जाती हैं और धन की प्राप्ति होती है, यदि इन उपायों को बुधवार के दिन किया जाए तो अच्छे फल की प्राप्ति होती है. साथ ही बुधवार को गणेश चालीसा का पाठ भी जरूर करें.

 

बुधवार को क्या करें 

बुधवार के दिन एक अमरूद का पौधा लेकर भगवान गणेश के सामने रखें. श्रीगणेश के चरणों में देसी घी का दीपक जलाएं. इसके बाद उस अमरूद के पौधे को किसी मिट्टी के गमले में लगा दें और उसकी देखभाल करें. जब इस पौधे पर पहला फल आए तो उस फल को भगवान गणेश को अर्पित कर दें. माना जाता है कि ऐसा करने से भगवान गणेश सभी दुख दूर करते हैं. इसके अलावा समय के साथ साथ सभी कष्ट धीरे-धीरे खत्म होने लगते हैं. इस अमरूद के पौधे को भगवान गणेश के सामने रखकर

 

‘गं हं क्लौं ग्लौं उच्छिष्ट गणेशाय महायक्षायायं बलिः’

मंत्र का जाप भी करें. जरूर करें ये उपाय

 

भगवान गणेश को घी और गुड़ का भोग लगाना चाहिए. भोग लगाने के बाद घी गुड़ गाय को खिला देनी चीहिए. ऐसा करने से घर में धन व खुशहाली आती है. अगर घर में नकारात्मक शक्तियों का वास है, तो घर के मंदिर में सफेद रंग के गणपति की स्थापना जरूर करनी चाहिए. मान्यता है कि इससे सभी प्रकार की बुरी शक्तियों का नाश होता है. बुध ग्रह खराब चल रहा तो किसी मंदिर में जाकर हरा मूंग दान करें. इससे बुध ग्रह का दोष शांत होता है. बुधवार के दिन सुबह स्नान कर गणेश जी को दूर्वा की 11 या 21 गांठ अर्पित करें. ऐसा करने से कार्यों के जल्द ही शुभ फल मिलने लगेंगे.

Must Read Ganasha बुधवार व्रत पूजा विधि महत्व एवं कथा बुधवार व्रत का फल

बुधवार के उपाय, खोल देंगे आपकी किस्मत के ताले

बुधवार के दिन भगवान गणेश के समक्ष गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करने से मनुष्य की सभी इच्छाएं पूर्ण होती हैं। गणपति को इस पाठ का श्रवण अत्ति प्रिय हैं।

बुधवार के दिन हरे रंग के वस्त्र पहनकर दुर्गा माता के मंदिर में जाएं और उन्हें हरे रंग की चूड़ियां चढ़ाएं।

बुधवार के दिन सप्त धान्य (सात प्रकार के अनाज) का दान करें।

बुधवार के ज्योतिषीय उपाय

गणेश जी एक ऐसे देवता हैं जो मात्र दुर्वा अर्पित करने से प्रसन्न हो जाते हैं। बुधवार के दिन उन्हें दूर्वा अर्पित करनी चाहिए। गणेश जी को प्रसन्न करने के लिए उन्हें गुड़-धनिया का भोग लगाएं। बुधवार के दिन किसी काम से बाहर निकलते समय थोड़ी सी सौंफ खा कर निकलें।

बुधवार : इन चीजों का रखें विशेष ध्यान

बुधवार के दिन किसी जरूरी कार्य पर जा रहे हैं तो घर से सिंदूर का तिलक लगाकर निकलें। ऐसा करने से कार्य में सफलता मिलती है । बुधवार को दिन भूमि भवन वाहन सोना चांदी रत्न वस्त्र आदि की खरीदी स्थाई समृद्धि प्रदान करने वाली मानी गई है। बुधवार को पश्चिम दिशा की ओर दिशाशूल होता है । अगर जरूरी नहीं हो तो बुधवार के दिन पश्चिम दिशा की ओर यात्रा न करें

बुधवार विशेष: इन चीजों का रखें विशेष ध्यान 

बुध ग्रह को वाणी और संवाद का कारक माना जाता है। बुधवार के दिन कड़वे बोल बोलने से बचना चाहिए ।

बुधवार के दिन वैवाहिक जीवन को सुखी और पति की लंबी आयु के लिए महिलाओं को काले वस्त्र नहीं पहनना चाहिए । 21 बुधवार के दिन गणेशजी के मंदिर में मूंग की दाल के लड्डू का भोग लगाए और इन्हें प्रसाद के रूप में बच्चों में बांट दें।

बुधवार विशेष गणपति बनाएंगे सभी बिगड़े काम

जिस व्यक्ति को अपने कार्यक्षेत्र में किसी भी तरह की परेशानियां आ रही हो उस व्यक्ति को 11 बुधवार तक गणपति जी के मंदिर में 4 नारियल की माला चढ़ाना चाहिए । परीक्षा में सफलता न मिल रही हो तो गणेश जी का ध्यान करते हुए कच्चे सूत में 7 गांठ लगाकर जय गणेश काटो क्लेश कहते हुए गणेश जी पर अर्पित करें। इसके बाद इसे अपने पर्स में रख लें।

श्री सिद्धि विनायक मंत्र 

ॐ नमो सिद्धि विनायकाय सर्व कार्य कर्त्रे सर्व विघ्न 

प्रशमनाय सर्व राज्य वश्यकरणाय सर्वजन सर्वस्त्री 

पुरुष आकर्षणाय श्रीं ॐ स्वाहा ।। 

सिद्धि विनायक मंत्र भगवान गणेश का सबसे प्रसिद्ध मंत्रों में से एक है। यह मंत्र हर प्रयास में सफलता पाने में मदद करता है। मंत्र स्मरण शक्ति और एकाग्रता को बढ़ाता है। आपको अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने की शक्ति प्रदान करता है । यह मंत्र धन और खुशी के साथ प्रचुरता प्राप्त करने में है। मदद करता है। प्रतिदिन इस मंत्र का एक माला जाप करें।

Must Read बुधवार को करें ये उपाय : संकटनाशन गणेश स्तोत्र का पाठ करके पाएं जीवन में सुख-समृद्धि‍

डिसक्लेमर

‘इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी। ‘